त्रिफला खाने से घटती है पेट की चर्बी ये 7 तरीके भी  है रामबाण उपाय

त्रिफला खाने से घटती है पेट की चर्बी . ये 7 तरीके भी  है रामबाण उपाय

जीवनशैली में बदलाव के साथ आयुर्वेद के इन उपायों का नियमित पालन करने से पेट की चर्बी बहुत आसानी से कम हो सकती है.

आमतौर पर बहुत से लोगों के लिए वजन कम करना बहुत बड़ी समस्या नहीं है.

लेकिन पेट के आसपास जमा फैट को कम करने में उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ती है.

बेली फैट को बढ़ाने में जेनेटिक फैक्टर की मुख्य भूमिका होती है,

लेकिन आयुर्वेदिक डॉक्टर श्याम वीएल के अनुसार लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करके पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है.

पेट की चर्बी कम करना बहुत आसान नहीं होता है. लेकिन सही डाइट और एक्सरसाइज से इसे आसानी से कम किया जा सकता है.

मेथी के पानी का सेवन

पेट की चर्बी कम करने के लिए भूनी हुए मेथी का पाउडर सुबह खाली पेट पानी के साथ सेवन करें.

इसके अलावा मेथी को रातभर पानी में भिगों दें और सुबह खाली पेट मेथी पानी पिएं. इससे बेली फैट कम हो जाएगा.

भोजन चबा कर खाए

जब मुंह के लार में कार्बोहाइड्रेट मिलता है तो पाचन शुरू होता है. इसलिए भोजन को अच्छी तरह चबा कर खाना चाइये .

चबाने से भोजन मुंह में अच्छी तरह टूट जाता है और पाचन तंत्र के बाकी हिस्सों में आसानी से जाता है.

यह सैटिटी हार्मोन को बढ़ाता है जिससे आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है.

गुनगुना पानी पिए

जब भी आपको प्यास महसूस हो, तो हमेशा गुनगुना पानी पीने की कोशिश करें.

दरअसल, गुनगुना पानी मेटाबोलिज्म को एक्टिवेट करता है और वजन कम करने में मदद करता है.

इससे न केवल बॉडी हाइड्रेट होती है .

बल्कि पेट पर जमा अतिरिक्त वसा घट जाती है. पानी के अलावा फल और जूस का भी सेवन करें.

फल पाचन शक्ति को बढ़ाता है और वजन कम करने में मदद करता है.

तेजी से चले

अपने पेट के कोर को पकड़कर 30 मिनट तक तेजी से चलने से पेट की चर्बी कम होती है.

इसके अलावा योग और पाइलेट्स भी बेली फैट कम करने के लिए बहुत प्रभावी है.

हल्का डिनर करे

लंच में अपनी नियमित कैलोरी का 50 प्रतिशत सेवन करें, क्योंकि इस समय पाचन शक्ति मजबूत होती है.

डिनर में कम से कम कैलोरी लें और शाम 7 बजे से पहले रात का खाना खा लें.

इससे बेली फैट नहीं बढ़ता है. साथ ही रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट जैसे मिठाई, मीठे पेय और तैलीय खाद्य पदार्थों से दूर रहें.

त्रिफला का सेवन करे

त्रिफला शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है और पाचन तंत्र को मजबूत करता है.

पेट की चर्बी घटाने में त्रिफला चूर्ण प्रभावी है. इसका नियमित सेवन करना चाहिए.

कब्ज की समस्या से राहत पाने के लिए आप गर्म पानी में  एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर रोजाना पीएं.

जीवनशैली में बदलाव के साथ आयुर्वेद के इन उपायों का नियमित पालन करने से पेट की चर्बी बहुत आसानी से कम हो सकती है.

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *