दिल का दौरा पड़ने के बाद भूलकर भी न खाएं ये 10 चीज़ें (Avoid These 10 Foods After Heart Attack)

दिल का दौरा पड़ने के बाद भूलकर भी न खाएं ये 10 चीज़ें (Avoid These 10 Foods After Heart Attack)

हार्ट अटैक पड़ने के बाद भी लोग बिना किसी टेंशन के आराम से खुशहाल ज़िंदगी जी सकते हैं,

बशर्त की अपने दिल की अच्छी सेहत के लिए अगर लाइफस्टाइल और डायट में थोड़ा-सा सुधार करें तो. 

दिल का दौरा पड़ने के बाद कौन-कौन से चीज़ें नहीं खानी चाहिए, यह जानने के लिए आप अपने डॉक्टर व नूट्रिशनिस्ट की सलाह ले सकते है.

उनकी सलाहानुसार बताई गई बातों को ध्यान में रखकर अपने दिल का ख्याल रख सकते हैं.

हार्ट अटैक आने के बाद अगर आप हार्ट-हेल्दी डायट फॉलो कर रहे हैं, तो सबसे पहले अपने डायट चार्ट से केक, कुकीज़, पेस्ट्रीज़ जैसे बेक्ड फूड आइटम्स को कट करें. .

शक़्कर होने के कारण इन बेक्ड चीज़ों को खाने से शरीर में ट्राइग्लिसराइड का स्तर बढ़ जाता है .

और दिल संबंधी बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती हैं.

क्रीम आदि होने के कारण इसमें सैचुरेटेड फैट्स होते हैं, जिससे ब्लड कोलेस्टेरॉल का स्तर बढ़ता है.

अगर मीठा खाने का मन करें, तो ताज़े फल खाएं. इनमें नेचुरल शुगर होता है, जो मीठे की ललक को शांत करते हैं.

 फ्राइड फूड्स

दिल का दौरा पड़ने के बाद ब्लड में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने का सबसे अच्छा तरीक़ा है .

कि फ्राइड फूड का सेवन कम किया जाए. कम तला-भुना खाने से भविष्य में दिल का दौरा या स्ट्रोक पड़ने की संभावना कम हो जाती है.

सैचुरेटेड और ट्रांस फैट्स से ब्लड में कोलेस्ट्रॉल के स्तर अधिक बढ़ जाता है,

जिसके कारण धमनियों के ऊपर फैट्स की परत जमा हो जाती है

और फिर रक्त के प्रवाह सुचारू रूप से नहीं होता है. बेहतर होगा कि अपनी डायट में से फ्राइड फूड को अलग कर दें.

ऑलिव ऑयल में बना हुआ घर का खाना खाएं.

साल्टेड नट्स और स्नैक्स

दिल से जुड़ी बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो जरुरी है कि डायट में नमक यानी सोडियम का सेवन कम करें.

पोषक तत्वों से भरपूर नट्स दिल के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं,

लेकिन साल्टेड नट्स और स्नैक्स दिल को नुक्सान पहुंचाते हैं.

अत: नट्सवाले स्नैक्स खरीदने से पहले उनका नुट्रिशन लेबल पढ़ लें कि उनमें सोडियम की मात्रा कितनी हैं.

साल्टेड नट्स खाने हैं, तो ऐसे स्नैक्स लें, जो अनसाल्टेड या लो-सोडियम स्नैक्स हों.

प्रोसेस्ड मीट

प्रोसेस्ड मीट में सोडियम और नाइट्रेट्स की मात्रा बहुत अधिक होती है और प्रोसेस्ड मीट खाने से हाई ब्लड प्रेशर,

हार्ट अटैक और हार्ट संबंधी बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है.

 मिल्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट की तुलना में मिल्क चॉकलेट में बहुत अधिक शुगर और फैट होता है.

हार्ट अटैक के बाद यदि कभी मन चॉकलेट खाने का करें, तो डार्क चॉकलेट खाएं.

डार्क चॉकलेट में फ्लेवोनॉइड और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं.

सोडा

अगर आपको सोडा पीना अच्छा लगता है, तो हार्ट अटैक के बाद अपनी इस आदत को छोड़ दें. सोडा में शुगर होता है.

और रोज़ाना सोडा पीने से शरीर में शक़्कर का स्तर बढ़ जाता है. इसके अलावा सोडे में प्रेसेर्वटिव्स होते हैं,

जिनसे हार्ट सम्बन्धी अन्य समस्याएं हो सकती हैं.

मैदा

मैदा खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है और कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर हार्ट अटैक आने का ख़तरा बढ़ जाता है.

मैदे से बनने वाले खाद्य पदार्थ जैसे- ब्रेड, पास्ता, बिस्किट्स, केक, चिप्स, समोसा, कुल्चे, पिज्जा, बर्गर आदि में अधिक मात्रा में अनहेल्दी कार्ब्स होते हैं.

इन अनहेल्दी कार्ब्स से शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ने लगती है, जो कई तरह की शारीरिक परेशानियों की वजह बनता है.

कैफीन मिश्रित चाय-कॉफीऔर एनर्जी ड्रिंक्स

चाय, कॉफी और एनर्जी ड्रिंक्स बहुत अधिक मात्रा में पीने से ब्लड प्रेशर बढ़ता है,

जिससे हार्ट अटैक के आने की संभावना बढ़ जाती है.

कम सोडियम (नमक)

दिल का दौरा आने के बाद जरुरी है कि डायट में सोडियम/नमक की मात्रा कम कर दें.

ज्यादा मात्रा में सोडियम खाने से ब्लड पतला होने लगता है जिससे दिल का दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है.

एक अध्ययन के अनुसार, रोजाना 5 ग्राम तक नमक खाना दिल के अच्छे स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित होता है.

इससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा नहीं बढ़ता है.

जंक फूड

अपनी डायट से जंक फूड को हटाकर आप हार्ट अटैक के खतरे को 53% तक कम कर सकते हैं.

जंक फूड, पिज़्ज़ा, बर्गर में फैट, सोडियम और कैलोरीज़ होती हैं,

जिनसे हार्ट अटैक का जोखिम बढ़ सकता है. इसलिए हार्ट अटैक के बाद डायट चार्ट में इन चीजों को बिलकुल भी जगह न दें.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *