बरसात में घातक बीमारियों से बचायंगे ये काढ़े

देश में कोरोना से जंग अभी भी जारी है. इस बीच, देश के कई हिस्सों में मॉनसून का दस्तक देना अपने साथ कई

समस्याओं को लेकर आया है. मौसम में बदलाव होने के कारण कई सीजनल बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है.

मौसम में बदलाव होने की वजह से कई संक्रामक रोगों का खतरा भी बढ़ जाता है.

इस दौरान स्वास्थ्य का खास ख्याल रखने की आवश्यकता होती है. ऐसे में काढ़े का सेवन इन रोगों से बचाव करने के लिए रामबाण माना जा सकता है.

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, काढ़ा सर्दी-जुकाम, खांसी और संक्रामक रोगों के लिए आयुर्वेदिक उपचार है.

जो व्यक्ति को मॉनसून में होने वाली बीमारियों से बचा सकता है.

तुलसी और काली मिर्च का काढ़ा

सामग्री : 2 कप पानी, 1 चम्मच चीनी, 1 चम्मच काली मिर्च (दरदरी पिसी हुई), 1 चम्मच क्रश किया हुआ अदरक,

1 चम्मच देसी घी, 1 या 2 लौंग, 2-4 तुलसी के पत्ते.

बिधि : काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले एक कड़ाही में घी गरम करें. इसमें लौंग

, काली मिर्च, अदरक और तुलसी डालकर हल्का भून लें.

इसके बाद इसमें पानी और चीनी डाल दें. मिश्रण को मध्यम आंच पर 15-20 मिनट तक पकाएं. इसे बीच-बीच में चला लें.

तय समय के बाद गैस बंद कर दें. तैयार काढ़ा को किसी कप में छानकर गर्म ही पिएं.

तुलसी और लोंग का काढ़ा

सामग्री : 1 कप तुलसी के पत्ते , 3-4 लोंग , 1/5 कप पानी .

बिधि : सबसे पहले एक बर्तन में तुलसी और लौंग डालकर पकाएं.

जब पानी अधा रह जाए तो गैस बंद कर दें

और इसे ठंडा होने के लिए रख दें. तैयार काढ़ा को एक कप में छानकर

इसमें थोड़ा सा काल नमक मिलाकर दिन में 2-3 बार पिएं.

अदरक निम्बू और सहद का काढ़ा

सामग्री : 1 बड़ा चम्मच अदरक का रस , 1 बड़ा चम्मच सहद , 1/2 निम्बू का रस.

बिधि : सबसे पहले एक बर्तन लें. इसमें अदरक का रस, शहद और नींबू का रस डालकर अच्छी तरह से मिक्स करें. तैयार है

अदरक, नींबू और शहद काढ़ा. इस काढ़ा को दिन में एक बार खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लें.

काढ़ा चाय

सामग्री : 3-4 अदरक के टुकड़े , 1 चम्मच हल्दी, 1/4 चम्मच  दालचीनी पाउडर , 4 इलायची, 4 तुलसी के पत्ते, 4 कप पानी, 4-6 धागे केसर, शहद स्वादानुसार .

बिधि : सबसे पहले अदरक, हल्दी, इलायची, दालचीनी और तुलसी के पत्तों को ब्लेंडर में डालकर पेस्ट तैयार कर लें.

अब एक बर्तन में पेस्ट और पानी डालकर 5 मिनट तक उबाल ले. तय समय के बाद काढ़े को छानकर उसमे स्वादनुसार सहद

और केसर मिला ले तेयार काढ़े को गर्म ही पिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here