Protein ( प्रोटीन)

Protein ( प्रोटीन)

प्रोटीन एक जटिल कार्बनिक योगिक है जो बहुत से एमिनो अम्लो से मिलकर बना है.

proteins शव्द  प्रयोग सर्बप्रथम ब्रजिलियास नमक बेज्ञानिक ने किया था

प्रोटीन बिसेष रूप से अपना योगदान वृद्धि तथा उतकों की मरम्मत ब स्वस्थ रखने में करता है प्रोटीन हमारे सरीर के निर्माण में सहायता देता है.इसीलिए यह सबसे महत्वपूर्ण योगिक है.

मानव सरीर का 15% भाग प्रोटीन से बना होता है.

Protein around one fifth of your body weight consists of protein

It is needed for ( प्रोटीन क्यों जरुरी है )

Growth, repair, and  maintenances  of body tissues.

Protein manufacturing hormones and enzymes involved in many body processes.

Producing   antibodies  for the immune system.

Protein   helping   digestion and  absorption of food.

Maximizing transport of oxygen to the body cells.

Providing structure for other tissues sach as tendons ,

Ligaments , organs , bones , hair , skin , nails.

Types of Proteins ( प्रोटीन के प्रकार )

प्रोटीन को तीन भागो में वाटा गया है.

सरल प्रोटीन ( simple protein )

सरल प्रोटीन बे प्रोटीन है जो केबल एमिनो अम्ल से बने होते है.इसके जल अपघटन में एमिनो अम्ल प्राप्त होता है.

example :एल्ब्यूमिन , ग्लोविन , हिस्टोन , प्रोलोमिन , ग्लुमेंस आदि .

सयुग्मी प्रोटीन (conjugated potein )

ये बे प्रोटीन है जिनमे एमिनो अम्ल के साथ अन्य अणु भी जुड़े होते है एमिनो अम्ल रहित भी सायुग्मीप्रोटीन होते है.

example : हेमोग्लोविन , cytocrome , heparin .

वियुत्पन प्रोटीन ( derived proteins )

ये be प्रोटीन है जो की प्राकृतिक प्रोटीन के जल अपघटन से बनते है.

जेसे :पेप्टोने , इंसुलिन ,अदि .

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here